शुक्रवार , अप्रेल 12 2024 | 05:43:57 PM
Breaking News
Home / राष्ट्रीय / उपभोक्ता कार्य विभाग ने पूर्ण डिजिटाइजेशन के बाद 7061 फाइलों को हटा दिया गया

उपभोक्ता कार्य विभाग ने पूर्ण डिजिटाइजेशन के बाद 7061 फाइलों को हटा दिया गया

Follow us on:

नई दिल्ली (मा.स.स.). उपभोक्ता कार्य विभाग देशभर में अपने कार्यालयों, कार्यालय परिसरों और संस्थानों में स्वच्छता से संबंधित विशेष अभियान 2.0 में भाग ले रहा है। भारतीय मानक ब्यूरो, राष्ट्रीय परीक्षण गृह, राष्ट्रीय उपभोक्ता सहकारी संघ और राष्ट्रीय उपभोक्ता आयोगों के कुल 73 कार्यालयों की पहचान की गई, जहां अभियान से संबंधित गतिविधियां 2 अक्टूबर को शुरू हुईं और 31 अक्टूबर, 2022 को समाप्त होंगी। विभाग ने इस विशेष अभियान 2.0 के लिए एक प्रारंभिक चरण का अवलोकन किया जिसमें स्वच्छता अभियान के दौरान ध्यान दिए जाने वाली वस्तुओं और हटाए जाने वाले रिकॉर्डों के बारे में फैसला किया गया और सभी 73 स्थानों पर सीपीडब्ल्यूडी और अन्य रखरखाव ठेकेदारों के साथ चर्चा की गई।

इस अभियान के दौरान, संसद सदस्यों से प्राप्त सभी पांच संदर्भों का उत्तर दिया गया। दो अंतर-मंत्रालयी संदर्भों पर टिप्पणियां दी गई हैं। 1516 लोक शिकायतों की तुलना में, 26.10.2022 तक, 1074 (70 प्रतिशत) लोक शिकायतों का संतोषजनक उत्तर दिया गया है और 156 का निपटारा कर दिया गया। रिकॉर्ड प्रबंधन के संबंध में वास्तविक आंकड़ों वाली 15,285 फाइलों की पहचान की गई, 13131 फाइलों की समीक्षा के बाद 7061 फाइलों को डिजिटाइजेशन के बाद पूरी तरह से हटा दिया गया है। ई-ऑफिस श्रेणी के तहत समीक्षा के लिए रखी गई 602 ई-फाइलों में से 473 ई-फाइलों को बंद कर दिया गया है। इस प्रकार, पहचाने गए 86 प्रतिशत रिकॉडों को अब तक बंद किया जा चुका है। अभियान के दौरान कबाड़ की बिक्री से 2,38,268 रुपये की कमाई हुई है, जिससे 5121 वर्ग फुट जगह खाली हुई है।

विभाग द्वारा देश भर में अपने कार्यालय परिसर में वृक्षारोपण के लिए एक विशेष अभियान चलाया गया है। इसके परिणामस्वरूप, आईआईएलएम, एनटीएच और बीआईएस परिसरों में 500 से अधिक पौधे लगाए गए और सभी परिसरों में किफायती ऊर्जा प्रकाश व्यवस्था करने के लिए विशेष अभियान चलाया गया और सभी परिसरों में लाइट फिटिंग के स्थान पर एलईडी लाइट फिटिंग लगाई गई।सर्वोत्तम कार्यप्रणाली को अपनाते हुए अधीनस्थ संगठनों ने नियमित आधार पर स्क्रैप के निपटान के लिए एमएसटीसी (भारत सरकार के उद्यमों) के साथ समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए और जागृति शुभंकर बैनर के साथ ई-दाखिल पोर्टल के माध्यम से इलेक्ट्रॉनिक रूप से उपभोक्ता आयोग के साथ शिकायतों के पंजीकरण के संबंध में बाजार में उपभोक्ताओं के लिए जागरूकता अभियान भी चलाया है।

अभियान और प्रारंभिक चरण के दौरान 5″ मंजिल पर एक रीमॉडेल्ड सेक्शन बनाया गया है, जहां पिछले अभियान में एक अनाज परीक्षण प्रयोगशाला स्थित थी और मंत्री के निर्देश पर अनाज परीक्षण प्रयोगशाला को कमरा नंबर स्थानांतरित कर दिया गया है। 545 से एनटीएच, गाजियाबाद और पूरे कमरे को युवा पेशेवरों और विभाग के अन्य अधिकारियों द्वारा उपयोग के लिए पुनर्निर्मित किया गया है।

मित्रों,
मातृभूमि समाचार का उद्देश्य मीडिया जगत का ऐसा उपकरण बनाना है, जिसके माध्यम से हम व्यवसायिक मीडिया जगत और पत्रकारिता के सिद्धांतों में समन्वय स्थापित कर सकें। इस उद्देश्य की पूर्ति के लिए हमें आपका सहयोग चाहिए है। कृपया इस हेतु हमें दान देकर सहयोग प्रदान करने की कृपा करें। हमें दान करने के लिए निम्न लिंक पर क्लिक करें -- Click Here


* 1 माह के लिए Rs 1000.00 / 1 वर्ष के लिए Rs 10,000.00

Contact us

Check Also

मुख्‍य चुनाव आयुक्‍त राजीव कुमार को दी गई जेड श्रेणी की सुरक्षा

नई दिल्ली. केंद्र सरकार ने मुख्य चुनाव आयुक्त राजीव कुमार को पूरे देश में केन्द्रीय रिजर्व …