शुक्रवार , सितम्बर 30 2022 | 02:24:54 PM
Breaking News
Home / व्यापार / एमईआईटीवाई में आयोजित स्टार्टअप्स के साथ संवादमूलक सत्र का हुआ आयोजन

एमईआईटीवाई में आयोजित स्टार्टअप्स के साथ संवादमूलक सत्र का हुआ आयोजन

Follow us on:

नई दिल्ली (मा.स.स.). एमईआईटीवाई स्टार्टअप हब (एमएसएच) द्वारा आयोजित एक संवादमूलक (इंटरैक्टिव) सत्र में, एमएसएच भागीदार कार्यक्रमों के कुछ प्रमुख और सफल स्टार्टअप लाभार्थियों ने इलेक्ट्रॉनिक्स और सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय (एमईआईटीवाई) में सचिव अलकेश कुमार शर्मा और मंत्रालय के वरिष्ठ अधिकारियों के साथ अपनी सफलता की कहानियां साझा कीं। स्टार्टअप्स के प्रतिनिधियों ने एमईआईटीवाई सचिव और अन्य प्रतिभागियों को इस बात से अवगत कराया कि उन्‍हें अपने स्टार्टअप को आगे बढ़ाने के लिए भारत सरकार से किस प्रकार के समर्थन की आवश्यकता है।

आज एमईआईटीवाई स्टार्टअप हब एमएसएच के पास लगभग 3000+ तकनीकी स्टार्टअप हैं, जिनकी परिकल्‍पना इन्‍हें अगले 3 से 5 वर्षों में दस हजार से अधिक स्टार्टअप तक बढ़ाने की है। एमईआईटीवाई की एक पहल, एमएसएच का गठन एक राष्ट्रीय मंच के रूप किया गया था जिसमें मुख्‍य रूप से टेक्‍नोलॉजी नवोन्‍मेष, स्टार्ट-अप और बौद्धिक संपदा के निर्माण को बढ़ावा देने पर ध्‍यान केन्द्रित किया गया था। एमएसएच अपनी स्थापना के बाद से समय-समय पर विभिन्न संगठनों के साथ साझेदारी में प्रवेश कर रहा है ताकि प्रौद्योगिकी स्टार्ट-अप के लिए एक अनुकूल इकोसिस्‍टम प्रदान किया जा सके और सहयोगों के माध्यम से लाभार्थी नेटवर्क की राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय उपस्थिति को बढ़ाया जा सके।

एमएसएच भागीदारी और संयुक्त पहल उद्योग संघों, कॉर्पोरेट्स, बहुराष्ट्रीय संस्थाओं, निजी प्रौद्योगिकी कंपनियों, अंतरराष्ट्रीय संगठनों, सरकारी संगठनों और अर्ध-सरकारी निकायों में फैली हुई है। एमएसएच के अनेक कॉरपोरेट साझेदार हैं और स्टार्टअप्स को सहयोग करने के लिए कंपनियां चलाई हैं, जिनमें से 8 ने इंटरेक्टिव सत्र में भाग लिया। स्टार्टअप्स ने अपनी छाप छोड़ने वाली कहानियां साझा की और सत्र में मौजूद एमईआईटीवाई के विभिन्न गणमान्य व्यक्तियों से मार्गदर्शन चाहा।

संवादमूलक (इंटरएक्टिव) सत्र के लिए निम्नलिखित 8 स्टार्टअप प्रतिनिधि उपस्थित थे:

  स्टार्टअप का नाम    प्रतिनिधि

 

प्रौद्योगिकी फोकस एमएसएच कार्यक्रम
गुरुत्व सिस्टम्स प्राइवेट लिमिटेड अपराजित नागरा गुरुत्व ड्रोन टेक बीएसएफ चुनौती
नैक्‍स्‍ट स्क्ल्सि 360 श्रवण कुमार एडटेक डेल एलिवेटेड चैलेंज
कृशिफाई फार्मस्टॉक अनमोल रैना एग्रीटेक

 

गूगल ऐपस्केल अकादमी
आयुरिदम अभिलेश गुप्ता हेल्थटेक गूगल ऐपस्केल अकादमी
किडएक्स  अमृतांशु कुमार एडटेक गूगल ऐपस्केल अकादमी
टेरालुमेन सॉल्यूशंस प्राइवेट लिमिटेड डॉ. ज्योतिर्मयी डैश मेडटेक क्वालकॉम डीआईसी 2022
आईमम्‍ज रवि तेजा हेल्थटेक गूगल ऐपस्केल अकादमी
रिकूर ​​क्लब एकलव्य गुप्ता फिनटेक रिकूर ​​क्लब पार्टनरशिप

आयोजन के दौरान, अलकेश कुमार शर्मा ने स्टार्टअप्स के नवाचार और जिस ऊर्जा के साथ वे काम कर रहे हैं, उसकी सराहना की। उन्होंने स्टार्टअप्स को उनकी विकास यात्रा में हर प्रकार का समर्थन देने की प्रतिबद्धता दोहराई। सत्र से उत्साहजनक जानकारी प्राप्‍त हुई जिसे भारत के टियर- II और टियर- III शहरों में स्टार्टअप की खोज, सहयोग, विकास और उन्‍हें सफल बनाने के लिए एक राष्ट्रीय डीप-टेक स्टार्टअप प्लेटफॉर्म – ‘डिजिटल इंडिया जेनेसिस’ (इनोवेटिव स्टार्टअप्स के लिए जेन-नेक्स्ट सपोर्ट) के साथ आगे बढ़ाया जा सकता है। डिजिटल इंडिया सप्ताह 2022 में हमारे प्रधानमंत्री ने ‘डिजिटल इंडिया जेनेसिस’ की शुरूआत की थी। इस योजना के लिए कुल 750 करोड़ रुपये के खर्च की परिकल्पना की गई है।

मित्रों,
मातृभूमि समाचार का उद्देश्य मीडिया जगत का ऐसा उपकरण बनाना है, जिसके माध्यम से हम व्यवसायिक मीडिया जगत और पत्रकारिता के सिद्धांतों में समन्वय स्थापित कर सकें। इस उद्देश्य की पूर्ति के लिए हमें आपका सहयोग चाहिए है। कृपया इस हेतु हमें दान देकर सहयोग प्रदान करने की कृपा करें। हमें दान करने के लिए निम्न लिंक पर क्लिक करें -- Click Here


* 1 माह के लिए Rs 1000.00 / 1 वर्ष के लिए Rs 10,000.00

Contact us

Check Also

कोल इंडिया ने कोयला से रासायनिक उत्पादों के लिए किया समझौता

नई दिल्ली (मा.स.स.). भूतल कोयला गैसीकरण (एससीजी) मार्ग के माध्यम से कोयला-से-रासायनिक परियोजनाओं की स्थापना …