मंगलवार , अक्टूबर 04 2022 | 07:05:21 PM
Breaking News
Home / राष्ट्रीय / भारत सभी चुनौतियों से निपटने के लिए मजबूत और अच्‍छी तरह से सुसज्जित है : राजनाथ सिंह

भारत सभी चुनौतियों से निपटने के लिए मजबूत और अच्‍छी तरह से सुसज्जित है : राजनाथ सिंह

Follow us on:

नई दिल्ली (मा.स.स.). प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी के नेतृत्व में, भारत एक मजबूत, आत्मविश्वास और आत्मनिर्भर राष्ट्र में बदल गया है जो सभी प्रकार के खतरों और चुनौतियों से निपटने के लिए पूरी तरह से लैस है। यह बात रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने दिनांक 30 अगस्त, 2022 को राजस्थान के उदयपुर में एक समारोह में कही। उन्होंने कहा कि पिछले आठ वर्षों में सरकार द्वारा उठाए गए कदमों ने सशस्त्र बलों में एक नया विश्वास जगाया है। उन्होंने जोर देकर कहा कि भारत ने कभी किसी देश पर हमला नहीं किया है, न ही उसने एक इंच विदेशी भूमि पर कब्जा किया है, लेकिन अगर कोई कभी भी राष्ट्र की संप्रभुता, एकता और अखंडता को नुकसान पहुंचाने की कोशिश करता है, तो उसका मुंहतोड़ जवाब दिया जाएगा।

राजनाथ सिंह ने कहा कि, “यह पिछले आठ वर्षों का परिणाम है कि भारत अब कमजोर नहीं रहा। जब हमारे सशस्त्र बलों ने 2016 में सर्जिकल स्ट्राइक और 2019 में बालाकोट हवाई हमले किए, तो हमने आतंकवाद पर अपना रुख स्पष्ट किया। यह इस बात का सबूत था कि भारत की सैन्य शक्ति किसी भी देश से कम नहीं है।” उन्होंने राष्ट्र को आश्वासन दिया कि लोगों को भारत विरोधी तत्वों से बचाने के लिए सशस्त्र बलों को पूरी तत्परता के साथ तैनात किया गया है। रक्षा मंत्री ने जोर देकर कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी के नेतृत्व में ‘आत्मनिर्भर भारत’ की नींव रखी गई है और यह मजबूत तथा आत्मनिर्भर ‘न्यू इंडिया’ शक्तिशाली देशों के साथ कंधे से कंधा मिलाकर आगे बढ़ रहा है।

उन्होंने रक्षा मंत्रालय द्वारा रक्षा में ‘आत्मनिर्भर भारत’ को बढ़ावा देने के लिए उठाए गए अनेक कदमों को सूचीबद्ध किया, जिसमें 310 वस्तुओं की तीन सकारात्मक स्वदेशीकरण सूची जारी करना और केंद्रीय बजट 2022-23 में घरेलू उद्योग के लिए पूंजी खरीद बजट का 68 प्रतिशत निर्धारित करना शामिल है। उन्होंने कहा कि घरेलू रक्षा उद्योग को मजबूत करने के लिए ‘मेक इन इंडिया, मेक फॉर द वर्ल्ड’ विजन के तहत विदेशी कंपनियों को भारत में निर्माण के लिए प्रोत्साहित किया जा रहा है ।

सिंह ने कहा कि सरकार द्वारा किए गए प्रयास परिणाम देने लगे हैं क्योंकि भारत न केवल अपनी जरूरतों को पूरा कर रहा है, बल्कि अन्य देशों की जरूरतों को भी पूरा कर रहा है। उन्होंने इस तथ्य की सराहना की कि आठ साल पहले रक्षा निर्यात, जो लगभग 900 करोड़ रुपये था, अब बढ़कर लगभग 13,000 करोड़ रुपये हो गया है। उन्होंने कहा कि 2047 तक 2.75 लाख करोड़ रुपये के रक्षा निर्यात का लक्ष्य रखा गया है और यह विश्वास जताया कि भारत इस लक्ष्य को हासिल करने की दिशा में आगे बढ़ रहा है।

रक्षा मंत्री ने न केवल देश के भीतर बल्कि दुनिया के अन्य हिस्सों में रहने वाले भारतीयों की सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए सरकार की प्रतिबद्धता को दोहराया। उन्होंने जोर देकर कहा कि रूस के साथ मौजूदा स्थिति के बीच यूक्रेन से भारतीय नागरिकों की सुरक्षित वापसी प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी के प्रत्येक भारतीय की सुरक्षा सुनिश्चित करने के संकल्प का प्रमाण है।

 राजनाथ सिंह 16वीं शताब्दी के भारतीय शासक संग्राम सिंह प्रथम के चौथे पुत्र, उदय सिंह द्वितीय जो राणा सांगा के नाम से प्रसिद्ध हैं, की नर्स पन्ना धाय की प्रतिमा का अनावरण करने के लिए उदयपुर आए थे। राजनाथ सिंह ने भावभीनी श्रद्धांजलि अर्पित करते हुए मेवाड़ और पूरे देश के हित में, महाराणा प्रताप के पिता उदय सिंह द्वितीय की रक्षा के लिए अपने पुत्र का बलिदान करने वाली पन्ना धाय की बहादुरी की सराहना की। उन्होंने लोगों से पन्ना धाय से प्रेरणा लेने और राष्ट्र निर्माण में अपनी भूमिका निभाने का आग्रह किया।

मित्रों,
मातृभूमि समाचार का उद्देश्य मीडिया जगत का ऐसा उपकरण बनाना है, जिसके माध्यम से हम व्यवसायिक मीडिया जगत और पत्रकारिता के सिद्धांतों में समन्वय स्थापित कर सकें। इस उद्देश्य की पूर्ति के लिए हमें आपका सहयोग चाहिए है। कृपया इस हेतु हमें दान देकर सहयोग प्रदान करने की कृपा करें। हमें दान करने के लिए निम्न लिंक पर क्लिक करें -- Click Here


* 1 माह के लिए Rs 1000.00 / 1 वर्ष के लिए Rs 10,000.00

Contact us

Check Also

राष्ट्रीय साधन सह – मेधा छात्रवृत्ति योजना के लिए अंतिम आवेदन तिथि 15 अक्टूबर, 2022 तक बढ़ाई गई

नई दिल्ली (मा.स.स.). ‘वर्ष 2022-23 के एनएमसीएमएसएस के लिए आवेदन’ जमा करने की अंतिम तिथि …