रविवार , फ़रवरी 05 2023 | 10:34:20 PM
Breaking News
Home / राज्य / पूर्वोत्तर भारत / भूपेंद्र यादव ने 100 बिस्तर वाले ईएसआईसी अस्पताल की आधारशिला रखी

भूपेंद्र यादव ने 100 बिस्तर वाले ईएसआईसी अस्पताल की आधारशिला रखी

Follow us on:

अगरतला (मा.स.स.). केंद्रीय श्रम और रोजगार, पर्यावरण, वन और जलवायु परिवर्तन मंत्री भूपेंद्र यादव ने आज नई दिल्ली में आयोजित एक वर्चुअल कार्यक्रम के माध्यम से त्रिपुरा में 100 बिस्तर वाले कर्मचारी राज्य बीमा निगम (ईएसआईसी) अस्पताल की आधारशिला रखी। त्रिपुरा के मुख्यमंत्री प्रो. (डॉ.) माणिक साहाइस अवसर पर मुख्य अतिथि थे। श्रम और रोजगार, पेट्रोलियम और प्राकृतिक गैस राज्य मंत्रीरामेश्वर तेली और सामाजिक न्याय और अधिकारिता राज्य मंत्रीकुमारी प्रतिमा भौमिक इस कार्यक्रम में विशिष्ट अतिथि थी।

अगरतला में बनने वाला प्रस्तावित 100 बिस्तर वाला ईएसआईसी अस्पताल 5 एकड़ क्षेत्र में फैला होगा। यह ईएसआईसी द्वारा प्रत्यक्ष रूप से संचालित किया जाएगा। इस अस्पताल की अनुमानित निर्माण लागत लगभग 100 करोड़ रुपये है और यह 3 वर्षों में पूरा होगा। अस्पताल में मॉड्यूलर ओटी, अत्याधुनिक चिकित्सा उपकरण, प्रयोगशाला आदि जैसी सभी आधुनिक सुविधाएं होंगी। इसमें ओपीडी और आईपीडी सेवाएं होंगी। यह अस्पताल अगरतला और आसपास के क्षेत्रों के 60,000 से अधिक लाभार्थियों को चिकित्सा सेवाएं प्रदान करेगा।

कार्यक्रम के दौरान अपने संबोधन में, भूपेंद्र यादव ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने पूर्वोत्तर राज्यों के विकास में गहरी रुचि ली है और ईएसआईसी अस्पताल इस क्षेत्र के लिए प्रधानमंत्री के विजन को आगे बढ़ाने में मदद करेगा। उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार पूर्वोत्तर राज्यों में तेजी से विकास के लिए प्रतिबद्ध है और बल दिया कि यह पूर्वोत्तर राज्यों में रोजगार के अवसर सृजित करने और असंगठित क्षेत्र के श्रमिकों सहित सभी श्रमिकों को सामाजिक सुरक्षा प्रदान करने के लिए काम कर रहा है।

यादव ने कहा कि श्रम और रोजगार मंत्रालय असंगठित क्षेत्र के श्रमिकों के ई-श्रम पंजीकरण के लिए त्रिपुरा सरकार के साथ काम करेगा। उन्होंने यह भी कहा कि 100 बिस्तर वाला ईएसआईसी अस्पताल तीन वर्ष के भीतर बनाया जाएगा। त्रिपुरा के मुख्यमंत्री प्रो. (डॉ.) माणिक साहा ने अपने संबोधन में कहा कि प्रस्तावित अस्पताल से त्रिपुरा में श्रमिकों और उनके परिवार के सदस्यों को लाभ होगा। उन्होंने कहा कि इससे त्रिपुरा के लोगों के लिए रोजगार के अवसर भी उत्पन्न होंगे। उन्होंने बताया कि त्रिपुरा सरकार ने इस अस्पताल को बनाने के लिए ईएसआईसी को निःशुल्क 5 एकड़ भूमि उपलब्ध कराई है।

राज्य मंत्री रामेश्वर तेली ने कहा कि केन्द्र सरकार विभिन्न योजनाओं के माध्यम से श्रमिकों एवं वंचित वर्गों के उत्थान के लिये कार्य कर रही है। उन्होंने श्रम एवं रोजगार मंत्रालय द्वारा चलाई जा रही विभिन्न योजनाओं और कार्यक्रमों की जानकारी दी। इस अवसर पर उपस्थित अन्य गणमान्य व्यक्तियों में त्रिपुरा विधान सभा के अध्यक्ष और पश्चिम त्रिपुरा के खेयरपुर के विधायक रतन चक्रवर्ती त्रिपुरा सरकार के श्रमपशु संसाधन विकास और अनुसूचित जाति कल्याण मंत्री भगवान चौ. दास, भारत सरकार के श्रम और रोजगार मंत्रालय की सचिव  आरती आहूजा, ईएसआईसी के महानिदेशक डॉ. राजेंद्र कुमार, त्रिपुरा सरकार के मुख्य सचिव जितेंद्र कुमार सिन्हा, पंचायत समिति के अध्यक्ष विश्वजीत शील और त्रिपुरा सरकार के श्रम सचिव अभिषेक सिंह शामिल थे।

मित्रों,
मातृभूमि समाचार का उद्देश्य मीडिया जगत का ऐसा उपकरण बनाना है, जिसके माध्यम से हम व्यवसायिक मीडिया जगत और पत्रकारिता के सिद्धांतों में समन्वय स्थापित कर सकें। इस उद्देश्य की पूर्ति के लिए हमें आपका सहयोग चाहिए है। कृपया इस हेतु हमें दान देकर सहयोग प्रदान करने की कृपा करें। हमें दान करने के लिए निम्न लिंक पर क्लिक करें -- Click Here


* 1 माह के लिए Rs 1000.00 / 1 वर्ष के लिए Rs 10,000.00

Contact us

Check Also

हमेशा याद रखें,बैलट इज़ मोर इम्पोर्टेन्ट दैन बुलेट : अनुराग ठाकुर

अगरतला (मा.स.स.). केंद्रीय सूचना एवं प्रसारण व युवा कार्यक्रम एवं खेल मंत्री अनुराग ठाकुर आज …