मंगलवार , अक्टूबर 04 2022 | 07:46:26 PM
Breaking News
Home / राज्य / झारखण्ड / झारखंड के कैप्टिव और वाणिज्यिक ब्लॉकों से 37.3 मिलियन टन कोयले के उत्पादन की संभावना

झारखंड के कैप्टिव और वाणिज्यिक ब्लॉकों से 37.3 मिलियन टन कोयले के उत्पादन की संभावना

Follow us on:

रांची (मा.स.स.). कोयला मंत्रालय के अतिरिक्त सचिव और मनोनीत प्राधिकरण ने झारखंड के 20 गैर-परिचालित कैप्टिव व वाणिज्यिक कोयला ब्लॉकों की स्थिति की समीक्षा की। इस दौरान पर्यावरण, वन और जलवायु परिवर्तन मंत्रालय व पीसीसीएफ- झारखंड के अधिकारियों के साथ झारखंड के निदेशक (खान व भूविज्ञान) और परियोजनाओं के प्रस्तावक उपस्थित थे।

कोयला मंत्रालय ने झारखंड के गैर-परिचालित कोयला ब्लॉकों की समग्र स्थिति में सुधार और राज्य खनन व वन विभाग की ओर से प्रदान की गई सहायता की सराहना की। यह पाया गया कि चालू वित्तीय वर्ष के दौरान लगभग 3 से 4 कोयला ब्लॉकों के लिए खनन की अनुमति मिल जाएगी और चार कोयला ब्लॉकों से कोयले का उत्पादन शुरू किया जाएगा। 2022-23 में झारखंड के कैप्टिव और वाणिज्यिक कोयला ब्लॉकों से लगभग 37.3 मिलियन टन कोयले के उत्पादन की संभावना है। इससे पहले 2021-22 में यह आंकड़ा 17.72 मिलियन टन था। इस तरह 2021-22 की तुलना में चालू वित्तीय वर्ष में कोयले के उत्पादन में 110.4 फीसदी की बढ़ोतरी होगी। कोयला मंत्रालय ने परियोजना के प्रस्तावकों के सामने आने वाली समस्याओं के समाधान के लिए हर संभव सहायता करने का आश्वासन दिया है।

भारत : 1857 से 1957 (इतिहास पर एक दृष्टि) पुस्तक अपने घर/कार्यालय पर मंगाने के लिए आप निम्न लिंक पर क्लिक कर सकते हैं

https://vyaparapp.in/store/Pustaknama/15

मित्रों,
मातृभूमि समाचार का उद्देश्य मीडिया जगत का ऐसा उपकरण बनाना है, जिसके माध्यम से हम व्यवसायिक मीडिया जगत और पत्रकारिता के सिद्धांतों में समन्वय स्थापित कर सकें। इस उद्देश्य की पूर्ति के लिए हमें आपका सहयोग चाहिए है। कृपया इस हेतु हमें दान देकर सहयोग प्रदान करने की कृपा करें। हमें दान करने के लिए निम्न लिंक पर क्लिक करें -- Click Here


* 1 माह के लिए Rs 1000.00 / 1 वर्ष के लिए Rs 10,000.00

Contact us

Check Also

झारखंड में हिंसा करने के लिए उत्तर प्रदेश से गई थी एक टीम

रांची (मा.स.स.). कई जगह यह आरोप लगे हैं कि हिंसा करने वाले बाहर के लोग …