शुक्रवार , अगस्त 19 2022 | 04:24:10 PM
Breaking News
Home / राज्य / महाराष्ट्र / राष्ट्रीय स्वास्थ्य प्राधिकरण ने ‘एबीडीएम हैक्थॉन श्रृंखला’ के पहले हैक्थॉन किया प्रारंभ

राष्ट्रीय स्वास्थ्य प्राधिकरण ने ‘एबीडीएम हैक्थॉन श्रृंखला’ के पहले हैक्थॉन किया प्रारंभ

Follow us on:

मुंबई (मा.स.स.). राष्ट्रीय स्वास्थ्य प्राधिकरण (एनएचए) आयुष्मान भारत डिजिटल मिशन हैक्थॉन श्रृंखला के अंतर्गत अपना पहला हैक्थॉन हाइब्रिड रूप में महाराष्ट्र में पुणे के स्मार्ट सिटी ऑपरेशन सेंटर में 14 से 17 जुलाई, 2022 तक आयोजित कर रहा है। यह हैक्थॉन आयुष्मान भारत डिजिटल मिशन (एबीडीएम) के अंतर्गत पुणे महानगर पालिका (पीएमसी) तथा पुणे स्मार्ट सिटी डेवलपमेंट कॉर्पोरेशन लिमिटेड (पीएससीडीसीएल) के सहयोग से आयोजित किया जा रहा है। इनोवेटर, डेवलपर तथा डेटा विशेषज्ञ नवाचारी समाधान में सहयोग और निर्माण के लिए वयक्तिगत और वर्चुअल रूप में शामिल हुए हैं।

हैक्थॉन का उद्घाटन राष्ट्रीय स्वास्थ्य प्राधिकरण के मुख्य कार्यकारी अधिकारी डॉक्टर आर.एस. शर्मा ने किया। उद्घाटन समारोह में महाराष्ट्र सरकार के मेडिकल शिक्षा तथा औषधि विभाग के सचिव सौरभ विजय, एनएचए के अपर सीईओ डॉक्टर प्रवीण गेदाम, पीएमसी के आयुक्त विक्रम कुमार, आयुक्त (स्वास्थ्य सेवाएं) डॉक्टर एन. रामास्वामी तथा मिशन निदेशक किरण गोपाल वस्का, एनएचए के निदेशक डॉक्टर संजय कोल्ते, पीएससीडीसीएल के सीईओ डॉक्टर गौर सुन्दर, सीडैक पुणे के सहायक निदेशक रविन्द्र बिनवाड़े, पीएमसीके अपर आयुक्त तथा पीएमसीके अपर आयुक्त कुणाल खेमनार उपस्थित थे।

एनएचए के सीईओ डॉक्टर आर.एस. शर्मा ने अपने उद्घाटन भाषण में कहा कि यूपीआई की भूमिका की तरह यूनिफाइट इंटरफेस बाजार सक्षमकर्ता के रूप में काम करेगा और अनेक स्वास्थ्य सेवाएं उपलब्ध कराएगा। यह स्वास्थ्य सेवा प्रदाताओं के बीच अंतरसंचालन बनाने का प्रयास है और स्वास्थ्य सेवा डेटा के आदान-प्रदान में सहायक है, जिससे सभी के लिए गुणवत्ता संपन्न स्वास्थ्य सेवा पहुंच योग्य और किफायती होगी। डॉक्टर शर्मा ने कहा कि यह हैक्थॉनों की श्रृंखला में पहला हैक्थॉन है। यह हमारी डिजिटल स्वास्थ्य सेवा के इकोसिस्टम के बिल्डिंग ब्लॉकों को बढ़ाने में योगदान देने के लिए देश में युवा प्रतिभा को प्रोत्साहित करेगा और देश तथा विश्व के लिए नवाचारी समाधान बनाएगा।

यूनिफाइड हेल्थ इंटरफेस (यूएचआई) के अतिरिक्त हैक्थॉन का फोकस नवाचारी समाधान विकसित करने में व्यक्तियों और संगठनों को एक साथ लाकर भारत में हेल्थ स्टार्टअप इकोसिस्टम को गतिशील बनाने पर भी है। ‘राउंड1- किकस्टार्टिग यूएचआई’ के लिए अस्थाई पुरस्कार पुल 60,00,000 रुपए है। समाधान का मूल्यांकन स्वतंत्र निर्णायक मंडल द्वारा किया जाएगा। दो प्रमुख विषयों पर प्रत्येक चैलेंज ट्रैक पर शीर्ष प्रदर्शन करने वालों को पुरस्कार दिया जाएगा।

इनोवेशन ट्रैक: टेलीकंसल्टेशन, एम्बुलेंस बुकिंग, लैब टेस्ट, फिजिकल कंसल्टेशन बुकिंग जैसे विभिन्न उपयोग के मामलों के आसपास एक खुले नेटवर्क में डिजिटल स्वास्थ्य को शक्ति देने के लिए नवाचारी समाधानों के लिए चुनौती। इंटीग्रेशन ट्रैकः यूएचआई के अनुरूप एप्लिकेशनों के विकास में तेजी लाने की चुनौती और इन एप्लिकेशनों को अन्य ऐसे प्रतिभागियों के एप्लिकेशनों के साथ एकीकृत करना ताकि यूएचआई नेटवर्क पर डिजिटल स्वास्थ्य लेन-देन को सक्षम बनाया जा सके।

मित्रों,
मातृभूमि समाचार का उद्देश्य मीडिया जगत का ऐसा उपकरण बनाना है, जिसके माध्यम से हम व्यवसायिक मीडिया जगत और पत्रकारिता के सिद्धांतों में समन्वय स्थापित कर सकें। इस उद्देश्य की पूर्ति के लिए हमें आपका सहयोग चाहिए है। कृपया इस हेतु हमें दान देकर सहयोग प्रदान करने की कृपा करें। हमें दान करने के लिए निम्न लिंक पर क्लिक करें -- Click Here


* 1 माह के लिए Rs 1000.00 / 1 वर्ष के लिए Rs 10,000.00

Contact us

Check Also

महाराष्ट्र की स्वास्थ्य संबंधी योजनाओं पर हुई समीक्षा बैठक

मुंबई (मा.स.स.). राष्ट्रीय स्वास्थ्य प्राधिकरण ने महाराष्ट्र के पुणे में पांचवीं क्षेत्रीय समीक्षा बैठक– ‘आयुष संगम’ का …