रविवार, मई 19 2024 | 01:41:03 AM
Breaking News
Home / अंतर्राष्ट्रीय / अनुराग सिंह ने बांग्लादेश के युवा प्रतिनिधिमंडल के साथ बातचीत की

अनुराग सिंह ने बांग्लादेश के युवा प्रतिनिधिमंडल के साथ बातचीत की

Follow us on:

नई दिल्ली (मा.स.स.). युवा कार्यक्रम विभाग 12 से 19 अक्टूबर 2022 के दौरान भारत के दौरे पर आए बांग्लादेश के 100-सदस्यीय युवा प्रतिनिधिमंडल की मेजबानी कर रहा है। दौरे के अंतिम दिन, केन्द्रीय युवा कार्यक्रम एवं खेल मंत्री अनुराग सिंह ठाकुर ने बांग्लादेश के युवा प्रतिनिधिमंडल के सम्मान में आज नई दिल्ली में एक रात्रिभोज का आयोजन किया। इस अवसर पर, युवा कार्यक्रम एवं खेल राज्यमंत्री निसिथ प्रमाणिक भी उपस्थित थे।

भारत सरकार के केन्द्रीय युवा कार्यक्रम एवं खेल मंत्री के साथ बातचीत के दौरान बांग्लादेश के प्रतिनिधिमंडल ने इस कार्यक्रम की बेहद सराहना की। प्रतिनिधिमंडल ने बांग्लादेश की विभिन्न सांस्कृतिक प्रस्तुतियों का भी प्रदर्शन किया। भारतीय कलाकारों ने भी इस रंगारंग संध्या के दौरान अपनी कला का प्रदर्शन किया। अनुराग सिंह ठाकुर ने प्रतिनिधिमंडल के प्रतिनिधियों के साथ बातचीत करते हुए भारत में एक सप्ताह के प्रवास के क्रम में उनके अनुभवों को भी सुना। इस यात्रा ने दोनों देशों के बीच वैचारिक, सांस्कृतिक, राजनीतिक और आर्थिक संबंधों के आदान-प्रदान की सुविधा प्रदान की और क्षेत्रीय सहयोग एवं वैश्विक शांति को बढ़ावा देने में योगदान दिया। भारत और बांग्लादेश का एक लंबा साझा सांस्कृतिक, आर्थिक और राजनीतिक इतिहास रहा है। भारत की एक बड़ी आबादी भी वही बांग्ला भाषा बोलती है, जो बांग्लादेश में बोली जाती है। दोनों देश एक दूसरे के साथ एक लंबी सीमा साझा करते हैं। हमारे एक दूसरे के साथ पुराने, गहरे, मैत्रीपूर्ण संबंध भी हैं और हम समान हित साझा करते हैं।

इस कार्यक्रम के हिस्से के रूप में, बांग्लादेश के युवा प्रतिनिधिमंडल ने 14 अक्टूबर 2022 को राष्ट्रपति भवन राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मु से मुलाकात की। प्रतिनिधिमंडल ने आगरा में ताजमहल, बेंगलुरु स्थित भारतीय प्रबंधन संस्थान और मैसूरु में इंफोसिस जैसे विभिन्न सांस्कृतिक, शैक्षिक एवं औद्योगिक स्थलों का दौरा किया और वहां शिक्षाविदों एवं उद्योग जगत की शीर्ष हस्तियों के साथ बातचीत की। इस प्रतिनिधिमंडल में विविध पृष्ठभूमि के युवाओं का समावेश है जिनमें छात्र, युवा पत्रकार, उद्यमी, सामाजिक कार्यकर्ता, डॉक्टर आदि शामिल हैं। यह कार्यक्रम हमारे पड़ोसियों के साथ सौहार्दपूर्ण संबंधों को बढ़ावा देने में असीम सदभावना और सकारात्मक ऊर्जा पैदा करता है।

युवा कार्यक्रम एवं खेल मंत्रालय के युवा कार्यक्रम विभाग पर युवाओं से जुड़े विभिन्न मुद्दों के बारे में अन्य देशों और विभिन्न अंतरराष्ट्रीय एजेंसियों/संगठनों के सहयोग से युवाओं के बीच एक अंतरराष्ट्रीय परिप्रेक्ष्य विकसित करने की जिम्मेदारी है। शांति और समझ को बढ़ावा देने के कार्य में युवाओं को शामिल करने हेतु विभाग ने एक प्रभावी साधन के रूप में युवा प्रतिनिधिमंडलों के अंतरराष्ट्रीय आदान-प्रदान की कल्पना की है। विभिन्न देशों के युवाओं के बीच विचारों, मूल्यों और संस्कृति के आदान-प्रदान को बढ़ावा देने और अंतरराष्ट्रीय समझ विकसित करने के लिए मित्र देशों के साथ युवा प्रतिनिधिमंडलों का आदान-प्रदान पारस्परिक आधार पर किया जाता है। यह विभाग वर्ष 2006 से चीन और दक्षिण कोरिया के साथ युवा प्रतिनिधिमंडलों का नियमित आदान-प्रदान करता रहा है।

वर्ष 2012 में, ढाका स्थित भारतीय उच्चायोग ने भारत सरकार के युवा कार्यक्रम एवं खेल मंत्रालय से बांग्लादेश के 100-सदस्यीय युवा प्रतिनिधिमंडल को भारत आमंत्रित करने और उनके लिए ऐतिहासिक, शैक्षिक, तकनीकी और औद्योगिक हितों को प्रदर्शित करने वाले स्थानों का दौरा करने की व्यवस्था का अनुरोध किया था। तदनुसार, पहली बार, बांग्लादेश के 100-सदस्यीय युवा प्रतिनिधिमंडल ने 6-13 अक्टूबर, 2012 के दौरान भारत का दौरा किया था। बांग्लादेश का वर्तमान प्रतिनिधिमंडल ऐसा दौरा करने वाला आठवां दल है।

यह भी पढ़ें : केंद्रीय विद्यालय के विद्यार्थियों ने बनाए आकर्षक विज्ञान मॉडल

मित्रों,
मातृभूमि समाचार का उद्देश्य मीडिया जगत का ऐसा उपकरण बनाना है, जिसके माध्यम से हम व्यवसायिक मीडिया जगत और पत्रकारिता के सिद्धांतों में समन्वय स्थापित कर सकें। इस उद्देश्य की पूर्ति के लिए हमें आपका सहयोग चाहिए है। कृपया इस हेतु हमें दान देकर सहयोग प्रदान करने की कृपा करें। हमें दान करने के लिए निम्न लिंक पर क्लिक करें -- Click Here


* 1 माह के लिए Rs 1000.00 / 1 वर्ष के लिए Rs 10,000.00

Contact us

Check Also

नेपाल ने भारतीय मसालों एमडीएच और एवरेस्ट पर लगाया प्रतिबंध

काठमांडू. सिंगापुर और हॉन्गकॉन्ग के बाद अब नेपाल ने भी भारत के दो मसाला ब्रांड …