शुक्रवार , मार्च 01 2024 | 05:16:51 PM
Breaking News
Home / अंतर्राष्ट्रीय / इजरायल के फाइटर जेट एयरस्ट्राइक हमले में तीन सीनियर ऑपरेटिव की मौत

इजरायल के फाइटर जेट एयरस्ट्राइक हमले में तीन सीनियर ऑपरेटिव की मौत

Follow us on:

गाजा. इजरायल हमास के बीच जारी जंग में इजरायली सुरक्षा बल (IDF) को बड़ी सफलता हासिल हुई है. IDF के प्रवक्ता लेफ्टिनेंट कर्नल रिचर्ड हेचट ने जानकारी दी कि उनके फाइटर जेट ने दाराज तुफाह बटालियन पर हमला कर हमास के 3 सीनियर ऑपरेटिव को मार गिराया. इजरायल के हमले में मारे गए तीनों ओपरेटिव ने हमास के हमले में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई थी. आपको बता दें कि दराज तुफाह बटालियन को हमास समूह का सबसे महत्वपूर्ण ब्रिगेड माना जाता है.

इजरायली एयरफोर्स ने कहा कि इजरायल सुरक्षा एजेंसी शिन बेट के सटीक खुफिया मार्गदर्शन के तहत हमास के लड़ाकों को मार गिराया गया है. IDF ने शिन बेट और अम्मान के सटीक खुफिया मार्गदर्शन के तहत चरमपंथी संगठन हमास के दराज तफा बटालियन के कमांडर रफत अब्बास, उनके डिप्टी कमांडर इब्राहिम जेदेवा और युद्ध और प्रशासनिक सहायता के कमांडर तारेक को मार गिराया.

इजरायली एयरफोर्स ने सोशल मीडिया पर दी जानकारी
इजरायली एयरफोर्स ने एक्स (पूर्व में ट्विटर) पर अपने आधिकारिक हैंडल से पोस्ट कर अपने बयान में कहा कि दराज तुफाह बटालियन गाजा सिटी ब्रिगेड में एक बटालियन है, जिसे आतंकवादी संगठन हमास की सबसे महत्वपूर्ण ब्रिगेड माना जाता है. इस बटालियन के आतंकवादियों ने 7 अक्टूबर को हुए जानलेवा नरसंहार में महत्वपूर्ण हिस्सा लिया था. इसके अलावा IDF ने कहा कि हमास के खुफिया निदेशालय का उप प्रमुख शादी बरुद भी हवाई हमले में मारा गया है. IDF के मुताबिक वह 7 अक्टूबर को इजरायल पर हमास के हमले की योजना में शामिल था.

इजरायल का जमीनी हमला
आपको बता दें कि इजरायल युद्ध से जुड़े दूसरे चरण की तैयारी में जुट चुका है. इसके मद्देनजर उन्होंने बुधवार की रात को गाजा पट्टी पर जमीनी हमला किया. इस दौरान उन्होंने गाजा के उत्तर में टैंकों और पैदल सेना के साथ कूच किया. इस पर इजरायली सुरक्षा बल के प्रवक्ता ने जानकारी दी कि जमीनी हमले में कई टैंक और सैनिक शामिल थे. हमलोगों ने हमास से जुड़े लोगों को मार गिराया. उनके बुनियादी ढांचे को नष्ट कर दिया. इस दौरान किसी भी इजरायली सैनिकों की हताहत होने की खबर नहीं है. इजरायल ने पिछले कुछ दिनों में हमास की तरफ से संचालित क्षेत्र पर अपने हमलों की तीव्रता बढ़ा दी है. हर रात सैकड़ों हवाई हमले किए जा रहे हैं.

साभार : एबीपी न्यूज़

भारत : 1857 से 1957 (इतिहास पर एक दृष्टि) पुस्तक अपने घर/कार्यालय पर मंगाने के लिए आप निम्न लिंक पर क्लिक कर सकते हैं

https://www।amazon।in/dp/9392581181/

https://www।flipkart।com/bharat-1857-se-1957-itihas-par-ek-drishti/p/itmcae8defbfefaf?pid=9789392581182

मित्रों,
मातृभूमि समाचार का उद्देश्य मीडिया जगत का ऐसा उपकरण बनाना है, जिसके माध्यम से हम व्यवसायिक मीडिया जगत और पत्रकारिता के सिद्धांतों में समन्वय स्थापित कर सकें। इस उद्देश्य की पूर्ति के लिए हमें आपका सहयोग चाहिए है। कृपया इस हेतु हमें दान देकर सहयोग प्रदान करने की कृपा करें। हमें दान करने के लिए निम्न लिंक पर क्लिक करें -- Click Here


* 1 माह के लिए Rs 1000.00 / 1 वर्ष के लिए Rs 10,000.00

Contact us

Check Also

1971 की तरह फिर टूट सकता है पाकिस्तान : अफगानिस्तान

काबुल. तालिबानी नेता अहमद यासिर ने 1971 में भारत-पाकिस्तान युद्ध की एक तस्वीर शेयर करके …