रविवार , अप्रेल 21 2024 | 08:29:14 PM
Breaking News
Home / व्यापार / वकीलों ने एलन मस्क से मांगी छह अरब डॉलर की फीस

वकीलों ने एलन मस्क से मांगी छह अरब डॉलर की फीस

Follow us on:

वाशिंगटन. इलेक्ट्रिक कार निर्माता कंपनी टेस्ला के सीईओ एलन मस्क के बहुत ज्यादा माने गए 56 अरब डॉलर के मुआवजे को रद्द करवाने वाले वकीलों ने शुक्रवार को रिकॉर्ड तोड़ 6 अरब डॉलर का कानूनी शुल्क मांगा। जिसे कंपनी के स्टॉक में देना होगा। तीनों कानूनी फर्मों ने डेलावेयर में कोर्ट ऑफ चांसरी के सामने दाखिल एक आवेदन में कहा, “हम मानते हैं कि मांगी गई राशि पूर्ण आकार के मामले में अभूतपूर्व है।”

उन्होंने बताया कि यह फीस 288,888 डॉलर प्रति घंटे की दर से चार्ज की गई है। मस्क ने इस अनुरोध को “आपराधिक” बताते हुए अपने सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म एक्स पर पोस्ट किया कि “वकीलों ने टेस्ला को सिर्फ नुकसान पहुंचाया और वे 6 अरब डॉलर चाहते हैं।” मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, टेस्ला और मस्क के वकील ने तुरंत टिप्पणी के अनुरोधों का जवाब नहीं दिया।

कंपनी उन वकीलों को भुगतान करेगी जिन्होंने रिचर्ड टोर्नेटा का प्रतिनिधित्व किया था। जिस शेयरधारक ने 2018 में वेतन पैकेज को लेकर मस्क पर मुकदमा दायर किया था। जिसे डेलावेयर के एक जज ने जनवरी में खारिज कर दिया था। इलेक्ट्रिक वाहन निर्माता को यह शुल्क देने के लिए कहा जा रहा है क्योंकि उसे मस्क के वेतन पैकेज की वापसी से फायदा हुआ। जिसके बारे में कानूनी टीम ने कहा कि इससे कार निर्माता को 266 मिलियन शेयर वापस मिल जाएंगे।

“वकीलों ने लिखा, ‘इस संरचना का लाभ सीधे तौर पर बनाए गए लाभ से पुरस्कार को जोड़ने का है और फीस का भुगतान करने के लिए टेस्ला की बैलेंस शीट से एक पैसा भी लेने से बचा जाता है।’ उन्होंने आगे कहा कि यह शुल्क टेस्ला के लिए टैक्स-कटौती योग्य होगा।” न्यायाधीश कैथलीन मैककॉर्मिक, जो मामले की देखरेख कर रही हैं और शुल्क पर फैसला करेंगी, ने अपने फैसले में मस्क के वेतन को “अथाह” बताया।कंपनी इस शुल्क पर आपत्ति जता सकती है, क्योंकि उसके निदेशकों के वेतन पर इसी तरह के मामले में फीस का अनुरोध है।

शेयरधारक मामलों में सबसे बड़े निपटारे संघीय अदालत में हुए हैं। सबसे बड़ी राशि 2008 में 7.2 अरब डॉलर के प्रतिभूति धोखाधड़ी मामले में 688 मिलियन डॉलर के निपटारे को हासिल करने वाली कानूनी टीम के लिए थी। टेस्ला के शुल्क अनुरोध के समय, डेलावेयर सुप्रीम कोर्ट 1 अरब डॉलर के निपटारे वाले मामले में 267 मिलियन डॉलर के शुल्क की अपील पर विचार कर रहा है। जिसमें डेल टेक्नोलॉजीज शामिल है।डेलावेयर के न्यायाधीशों ने कहा है कि मुकदमेबाजी में गहराई से मामलों को आगे बढ़ाने, गवाही लेने और सुनवाई की ओर ले जाने पर वसूली का एक हायर परसेंट दिया जाना चाहिए। जिससे जोखिम और प्रयास को दर्शाया जा सके। मस्क के वेतन मामले में एक सप्ताह का मुकदमा चला।

इस दृष्टिकोण के विरोधियों का तर्क है कि जैसे-जैसे निपटारे और फैसले आकार में बढ़ते हैं, वकीलों को ज्यादा मुआवजे से बचने के लिए कम होता हुआ प्रतिशत हासिल करना चाहिए। कानूनी टीम ने कहा कि मांगी गई फीस फैसले का लगभग 11 प्रतिशत है। मस्क के वेतन पैकेज में स्टॉक विकल्प शामिल थे। जिसने उन्हें भारी छूट वाली कीमतों पर टेस्ला स्टॉक खरीदने की इजाजत दी। और उन्हें पांच साल तक स्टॉक रखने की जरूरत थी। कानूनी टीम ने कहा कि वे बिना किसी बिक्री प्रतिबंध के स्टॉक की मांग कर रहे हैं। शेयरधारक की कानूनी टीम में तीन लॉ फर्म शामिल हैं, Bernstein Litowitz Berger & Grossmann और Friedman Oster & Tejtel, दोनों न्यूयॉर्क में स्थित हैं। और Andrews & Springer विलमिंगटन से हैं।

साभार : अमर उजाला

भारत : 1857 से 1957 (इतिहास पर एक दृष्टि) पुस्तक अपने घर/कार्यालय पर मंगाने के लिए आप निम्न लिंक पर क्लिक कर सकते हैं

https://www।amazon.in/dp/9392581181/

https://www।flipkart.com/bharat-1857-se-1957-itihas-par-ek-drishti/p/itmcae8defbfefaf?pid=9789392581182

मित्रों,
मातृभूमि समाचार का उद्देश्य मीडिया जगत का ऐसा उपकरण बनाना है, जिसके माध्यम से हम व्यवसायिक मीडिया जगत और पत्रकारिता के सिद्धांतों में समन्वय स्थापित कर सकें। इस उद्देश्य की पूर्ति के लिए हमें आपका सहयोग चाहिए है। कृपया इस हेतु हमें दान देकर सहयोग प्रदान करने की कृपा करें। हमें दान करने के लिए निम्न लिंक पर क्लिक करें -- Click Here


* 1 माह के लिए Rs 1000.00 / 1 वर्ष के लिए Rs 10,000.00

Contact us

Check Also

अब अमूल दूध पिएगा अमेरिका, एक और आधा गैलेन का होगा पैक

वाशिंगटन. अमूल दूध पीता है इंडिया… नहीं-नहीं अब ये गाना सिर्फ इंडिया वाले ही नहीं, …