मंगलवार, जुलाई 16 2024 | 02:50:55 PM
Breaking News
Home / राष्ट्रीय / चुनाव आयोग ने ईवीएम हैक का आरोप लगाने वाले न्यूज पेपर को जारी किया नोटिस

चुनाव आयोग ने ईवीएम हैक का आरोप लगाने वाले न्यूज पेपर को जारी किया नोटिस

Follow us on:

मुंबई. महाराष्ट्र में ईवीएम को हैक करने को लेकर उठे सवालों पर आज चुनाव आयोग ने एक प्रेस कॉन्फ्रेंस की। इस प्रेस कॉन्फ्रेंस में चुनाव आयोग ने ईवीएम को हैक करने के मामले पर स्पष्टीकरण देते हुए ये साफ किया कि ईवीएम को हैक नहीं किया जा सकता है। बता दें कि ईवीएम को मोबाइल फोन से कनेक्ट करके हैक करने के आरोप लगाए गए थे। इसके बाद मुंबई उत्तर पश्चिम लोकसभा सीट की निर्वाचन अधिकारी वंदना सूर्यवंशी ने प्रेस कॉन्फ्रेंस करके कहा कि ये आरोपी पूरी तरह से गलत हैं और ईवीएम को अनलॉक करने के लिए किसी ओटीपी की जरूरत नहीं होती। उन्होंने कहा कि ईवीएम को किसी डिवाइस से कनेक्ट नहीं किया जा सकता है।

झूठी कहानी बना रहे नेता

इसके अलावा रिटर्निंग ऑफिसर वंदना सूर्यवंशी ने ईवीएम के बारे में गलत सूचना फैलाने और भारतीय चुनाव प्रणाली में संदेह पैदा करने के लिए न्यूज पेपर को नोटिस जारी किया है। उन्होंने कहा कि ईवीएम को अनलॉक करने के लिए मोबाइल फोन पर कोई ओटीपी नहीं भेजी जा सकती है, क्योंकि यह नॉन-प्रोग्रामेबल है और इसमें कोई वायरलेस संचार क्षमता नहीं है। यह एक अखबार द्वारा फैलाया गया पूरा झूठ है, जिसका इस्तेमाल कुछ नेता झूठी कहानी बनाने के लिए कर रहे हैं।

आपराधिक मामला पहले से दर्ज

रिटर्निंग अधिकारी वंदना सूर्यवंशी ने कहा कि मुंबई उत्तर पश्चिम निर्वाचन क्षेत्र के मतगणना केंद्र पर एक उम्मीदवार के सहयोगी द्वारा एक अधिकृत व्यक्ति के मोबाइल फोन का अनधिकृत रूप से उपयोग करने की घटना सामने आई है। रिटर्निंग ऑफिसर की ओर से पहले ही आपराधिक मामला दर्ज कराया जा चुका है। उन्होंने कहा कि ईवीएम को अनलॉक करने के लिए मोबाइल पर कोई ओटीपी नहीं भेजी जा सकती है, क्योंकि यह प्रोग्राम करने योग्य नहीं है और इसमें कोई वायरलेस संचार क्षमता नहीं है। यह एक अखबार द्वारा फैलाया जा रहा सरासर झूठ है, जिसका इस्तेमाल कुछ नेता झूठी कहानी गढ़ने के लिए कर रहे हैं।

किसी भी हेर-फेर की संभावना नहीं

उन्होंने आगे कहा कि ईवीएम एकल उपकरण हैं, जिनमें ईवीएम प्रणाली के बाहर की इकाइयों के साथ कोई वायर्ड या वायरलेस कनेक्टिविटी नहीं है। हेरफेर की किसी भी संभावना को दूर करने के लिए उन्नत तकनीकी सुविधाएं और मजबूत प्रशासनिक सुरक्षा उपाय मौजूद हैं। सुरक्षा उपायों में उम्मीदवारों या उनके एजेंटों की उपस्थिति में सब कुछ आयोजित करना शामिल है।

साभार : इंडिया टीवी

फेसबुक पेज : https://www.facebook.com/profile.php?id=61558434413602

मित्रों,
मातृभूमि समाचार का उद्देश्य मीडिया जगत का ऐसा उपकरण बनाना है, जिसके माध्यम से हम व्यवसायिक मीडिया जगत और पत्रकारिता के सिद्धांतों में समन्वय स्थापित कर सकें। इस उद्देश्य की पूर्ति के लिए हमें आपका सहयोग चाहिए है। कृपया इस हेतु हमें दान देकर सहयोग प्रदान करने की कृपा करें। हमें दान करने के लिए निम्न लिंक पर क्लिक करें -- Click Here


* 1 माह के लिए Rs 1000.00 / 1 वर्ष के लिए Rs 10,000.00

Contact us

Check Also

जेडीयू ने पूर्व आईएएस मनीष वर्मा को बनाया राष्ट्रीय महासचिव

पटना. आईएएस की नौकरी छोड़कर राजनीति में आए मनीष वर्मा को जेडीयू का नया महासचिव …