रविवार, जून 16 2024 | 01:22:19 AM
Breaking News
Home / अंतर्राष्ट्रीय / ईरान के राष्ट्रपति की मृत्यु पर उन्हीं के देश में आतिशबाजी कर मनाया गया जश्न

ईरान के राष्ट्रपति की मृत्यु पर उन्हीं के देश में आतिशबाजी कर मनाया गया जश्न

Follow us on:

तेहरान. हेलीकॉप्टर दुर्घटना में ईरान के राष्ट्रपति इब्राहिम रायसी और विदेश मंत्री अमीर अब्दुल्लाहियां समेत कई वरिष्ठ अधिकारियों की मौत हो गई। रविवार को ईरान के पूर्वी अजरबैजान प्रांत में रायसी का हेलीकॉप्टर दुर्घटनाग्रस्त हो गया। राहत और बचाव दल रात भर उनकी तलाश करते रहे लेकिन कोई पता नहीं चला। सोमवार सुबह जब बचाव दल ने पहाड़ी पर हेलीकॉप्टर का मलबा बिखरा देखा। कुछ ही देर में यह साफ हो गया कि ईरानी राष्ट्रपति और उनके साथ सफर कर रहे सभी लोग मारे जा चुके हैं। जैसे ही राष्ट्रपति की मौत की पुष्टि हुई, ईरान के सरकारी टीवी पर देशभर से दुख की तस्वीरें दिखाई जाने लगीं, लेकिन साथ ही देश में रायसी की मौत का जश्न भी मनाया जा रहा था। सोशल मीडिया पर कई वीडियो सामने आए हैं, जिनमें आतिशबाजी दिखाई गई है।

महसा अमिनी शहर में फोड़े गए पटाखे

राष्ट्रपति इब्राहिम रईसी के हेलीकॉप्टर क्रैश का सबसे बड़ा जश्न ईरान के कुर्दिस्तान इलाके में देखा गया। यहां साकेज शहर में लोगों ने आतिशबाजी कर रायसी की मौत का जश्न मनाया। साकेज़ महसा अमिनी का गृहनगर है, जो ईरान में हिजाब के खिलाफ विरोध प्रदर्शन का चेहरा बन गई हैं। महसा अमिनी ने ईरान में हिजाब के खिलाफ विरोध प्रदर्शन में हिस्सा लिया था, जिसके चलते वह ईरान की मोरल पुलिस के निशाने पर आ गईं। बिना हिजाब के बाहर निकलने पर उसे नैतिक पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया और बेरहमी से पीटा गया। अस्पताल में इलाज के दौरान अमिनी की मौत हो गई।

उनकी मृत्यु के बाद महसा अमिनी को ईरान में महिलाओं के अधिकारों के लिए लड़ने वाली एक नायक के रूप में पहचाना जाने लगा। उनके समर्थन में देशभर की महिलाएं सड़कों पर उतर आईं। कुछ ही समय में उनका नाम पूरी दुनिया में प्रसिद्ध हो गया। 22 साल की महसा अमिनी के लिए न सिर्फ ईरान में बल्कि दुनिया के दूसरे हिस्सों में भी लोगों ने आवाज उठाई। ईरान के राष्ट्रपति रायसी के खिलाफ महसा अमिनी शहर के लोगों में काफी गुस्सा है, जो उनकी मौत के बाद भी सामने आया।

ईरान ने इब्राहिम रायसी को बताया शहीद

ईरान की सरकारी मीडिया ने इब्राहिम रईसी की मौत की घोषणा करते हुए उन्हें शहीद बताया है। इसमें कहा गया है कि ईरान के आठवें राष्ट्रपति इब्राहिम रायसी उस समय शहीद हो गए जब उन्हें और उनके साथियों को ले जा रहा एक हेलीकॉप्टर देश के उत्तर-पश्चिम में पूर्वी अजरबैजान प्रांत के वरज़ाकन क्षेत्र में दुर्घटनाग्रस्त हो गया। हेलीकॉप्टर में रायसी के साथ विदेश मंत्री हुसैन अमीर अब्दुल्लाहियां, पूर्वी अजरबैजान के गवर्नर मलिक रहमती और रायसी के अंगरक्षक के प्रमुख मेहदी मौसवी भी सवार थे। पूर्वी अजरबैजान में सर्वोच्च नेता अयातुल्ला अली खामेनेई के प्रतिनिधि मोहम्मद अली अल-ए-हाशेम भी उनके साथ थे। हादसे में कोई नहीं बचा।

साभार : इंडिया न्यूज

फेसबुक पेज : https://www.facebook.com/profile.php?id=61558434413602

मित्रों,
मातृभूमि समाचार का उद्देश्य मीडिया जगत का ऐसा उपकरण बनाना है, जिसके माध्यम से हम व्यवसायिक मीडिया जगत और पत्रकारिता के सिद्धांतों में समन्वय स्थापित कर सकें। इस उद्देश्य की पूर्ति के लिए हमें आपका सहयोग चाहिए है। कृपया इस हेतु हमें दान देकर सहयोग प्रदान करने की कृपा करें। हमें दान करने के लिए निम्न लिंक पर क्लिक करें -- Click Here


* 1 माह के लिए Rs 1000.00 / 1 वर्ष के लिए Rs 10,000.00

Contact us

Check Also

अब तक तीन मामलों में बरी होने के बाद भी अभी रिहा नहीं हो पाएंगे इमरान खान

इस्लामाबाद. पाकिस्तान की एक अदालत ने सोमवार को जेल में बंद पूर्व प्रधानमंत्री इमरान खान और …