शुक्रवार , दिसम्बर 02 2022 | 07:04:57 PM
Breaking News
Home / राज्य / पश्चिम बंगाल / ज्योतिरादित्य सिंधिया ने हुबली और दिल्ली के बीच सीधी उड़ान का शुभारंभ किया

ज्योतिरादित्य सिंधिया ने हुबली और दिल्ली के बीच सीधी उड़ान का शुभारंभ किया

Follow us on:

कोलकाता (मा.स.स.). नागरिक विमानन मंत्री ज्योतिरादित्य एम सिंधिया ने आज हुबली से दिल्ली के लिए सीधी उड़ान का उद्घाटन किया। यह लड़ाई सप्ताह के सभी सातों दिन निम्नलिखित कार्यक्रम के अनुसार संचालित होगी।

उड़ान संख्या प्रस्थान स्थल आगमन स्थल उड़ान के दिन प्रस्थान समय आगमन का समय हवाई जहाज़ आरंभ की तिथि
6 ई 5624 दिल्ली हुबली 1234567 10:00 12:45  

एयर बस

14 नवंबर 2022
6 ई 5625 हुबली दिल्ली 1234567 13:15 15:45

इंडिगो की उड़ान संख्या 6ई 5624 दिल्ली से 10:00 बजे रवाना होगी और 12:45 बजे हुबली पहुंचेगी। वापसी में उड़ान संख्या 6ई 5625 हुबली से 13:15 बजे प्रस्थान करेगी और 15:45 बजे दिल्ली पहुंचेगी। नागरिक विमानन मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया ने अपने उद्घाटन भाषण में कहा कि हुबली हवाई अड्डा उत्तरी कर्नाटक और दक्षिणी महाराष्ट्र के निवासियों के लिए प्रवेश द्वार के रूप में काम करता है। सिंधिया ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में केंद्र सरकार ने इसके बुनियादी ढांचे के विकास पर उचित ध्यान दिया है। उन्होंने कहा कि नया टर्मिनल भवन विकसित किया गया है और आईएलएस प्रणाली स्थापित की गई है। सिंधिया ने कहा कि हवाई अड्डे के रनवे को और बढ़ाया जा रहा है और हुबली का एफटीओ अगले साल से चालू हो जाएगा। मंत्री ने अक्षय ऊर्जा के उपयोग के संबंध में हुबली हवाई अड्डे के प्रदर्शन की भी सराहना की।

उद्घाटन अवसर पर संसदीय कार्य तथा खान और कोयला मंत्री, प्रल्हाद वेंकटेश जोशी, सांसद – लोकसभा रमेश बिधूड़ी, हुबली-धारवाड़-पश्चिम के विधायक अरविंद चंद्रकांत बेलाड, जगदीश शेट्टार, विधायक हुबली-धारवाड़-मध्य, अभय प्रसाद, विधायक हुबली-धारवाड़-पूर्व, वीरेश अंचटगेरी, मेयर हुबली उपस्थित थे। इसके अलावा, आर के सिंह, आईएएस (आर), प्रबंध निदेशक, इंडिगो के प्रधान सलाहकार और हुबली के एमओसीए, एएआई, इंडिगो और स्थानीय प्रशासन के अन्य गणमान्य व्यक्ति भी इस अवसर पर उपस्थित थे।

मित्रों,
मातृभूमि समाचार का उद्देश्य मीडिया जगत का ऐसा उपकरण बनाना है, जिसके माध्यम से हम व्यवसायिक मीडिया जगत और पत्रकारिता के सिद्धांतों में समन्वय स्थापित कर सकें। इस उद्देश्य की पूर्ति के लिए हमें आपका सहयोग चाहिए है। कृपया इस हेतु हमें दान देकर सहयोग प्रदान करने की कृपा करें। हमें दान करने के लिए निम्न लिंक पर क्लिक करें -- Click Here


* 1 माह के लिए Rs 1000.00 / 1 वर्ष के लिए Rs 10,000.00

Contact us

Check Also

आईआईटी खड़गपुर ने ई-रिक्शा के लिए निर्मित तकनीक की हस्तांतरित

कोलकाता (मा.स.स.). यह एक तथ्य है कि हमारे देश में इलेक्ट्रिक वाहनों (जैसे मोटर/कंट्रोलर/कनवर्टर/बैटरी मैनेजमेंट …